Breaking News
धनुष की 50वीं फिल्म ‘रायन’ का दमदार ट्रेलर आउट, भरपूर एक्शन मोड में नजर आए अभिनेता
देवप्रयाग में 17 वर्षीय किशोर को गुलदार ने बनाया निवाला, दहशत में पूरा क्षेत्र 
एक्सरसाइज के दौरान या तुरंत बाद सिरदर्द होना गंभीर बीमारी के हैं संकेत, नई रिसर्च में हुआ बड़ा खुलासा
उत्तराखंड में हुई देश के पहले ऑनलाइन होमस्टे बुकिंग पोर्टल की शुरुआत
हीमोफीलिया फैक्टर व दवाइयों की कोई कमी नहीं होने देंगे- सीएम
आम लोगों को तगड़ा झटका
पर्यावरण संरक्षण और वृक्षारोपण जैसे कार्य हमारे भविष्य के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण – स्पीकर ऋतु खण्डूडी
महाराज ने मुख्यमंत्री को सौंपा चारधाम यात्रियों की दुर्घटना सुरक्षा बीमा का चैक
मानसून के बाद एक माह में सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त बनाया जाए – सीएम धामी

अग्निवीर योजना पर पीएम मोदी के बाद नड्डा भी नहीं बोले कुछ

कांग्रेस ने भाजपा की चुप्पी को बनाया चुनावी मुद्दा

देहरादून। पीएम मोदी के बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी सेना में भर्ती की महत्वाकांक्षी योजना अग्निवीर पर भी कुछ नहीं बोले। दोनों शीर्ष भाजपा नेता उत्तराखंड में चुनावी जनसभाएं कर चुके हैं। नड्डा ने गुरुवार 4 अप्रैल को उत्तराखंड के पिथौरागढ़ व विकासनगर इलाके में दो चुनावी जनसभा की। इन दोनों जनसभाओं में नड्डा ने केंद्र सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को एक एक कर गिनाया। समान नागरिक संहिता पर सीएम धामी की पीठ भी थपथपाई। लेकिन फौजी बहुल उत्तराखंड में बहु प्रचारित अग्निवीर योजना पर मौन रहे।

नड्डा ने मोदी सरकार की 10 साल की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि जब मैं वीरभूमि बोलता हूँ तो दिल को बहुत संतोष भी मिलता है। वन रैंक वन पेंशन का जिक्र भी किया। अपने संबोधन में नड्डा ने शौचालय,बिजली,जल जीवन मिशन, उज्ज्वला गैस , वाइब्रेंट विलेज,वंदे भारत ट्रेन, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना, आल वेदर रोड, एक्सप्रेसवे, धामों का विकास समेत अन्य विकास योजनाओं का जिक्र किया और विपक्ष के घोटाले गिना कर भाजपा को जिताने की अपील की। लेकिन सेना में भर्ती की अग्निवीर योजना का जिक्र तक नहीं किया। गौरतलब है कि इस बहु प्रचारित अग्निवीर योजना के मानकों से सेना में भर्ती की तैयारी में जुटे युवाओं को अपेक्षित सफलता हाथ नहीं लगी।

केदारनाथ से कांग्रेस के पूर्व विधायक मनोज रावत का कहना है कि भाजपा ने अग्निवीर योजना के जरिए युवाओं की सेना में नौकरी का सपना चकनाचूर कर दिया है। आंकड़े बता रहे हैं कि बहुत कम युवाओं की सेना में भर्ती हुई है। जबकि पूर्व में गढ़वाल राइफल व कुमायूं रेजिमेंट में हजारों युवा सेना में भर्ती होते थे। पहाड़ की आर्थिकी के अहम स्तम्भ को भाजपा ने ढहा दिया है। उन्होंने कहा कि इससे प्रदेश के युवाओं में गहरी निराशा है। और सेना में भर्ती नहीं होने पर युवा दुखद आत्मघाती कदम भी उठा चुके हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र की सत्ता में आने के बाद कांग्रेस अग्निवीर योजना को समाप्त करेगी। इस मुद्दे पर भाजपा के प्रत्याशी भी कन्नी काट रहे हैं। इस लोकसभा चुनाव में अपनी ही अग्निवीर योजना का जिक्र न कर भाजपा ने कांग्रेस को हमलावर होने का मौका दे दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top